ओम सच्ची सरकार दे जलवे – Bhajan Lyrics

ओम सच्ची सरकार दे जलवे

ओम सच्ची सरकार दे जलवे सूरज तारे गावन्दे ने,

इंसाना दी गल इक पासे, देवते शीश झुकादे ने,

मेरी ओम सच्ची सरकार दे जलवे सूरज तारे गावन्दे ने,

 

ओम पिता दे चरण पेन नाल धरती पावन होइ सी,

अमृत वेले नंदाचौर दा नाम ना लैंदा कोइ सी,

आज ओहियो धरती ते ओहियो लोकी रोज़ जयकारे लांदे ने,

इंसाना दी गल इक पासे, देवते शीश झुकादे ने,

मेरी ओम सच्ची सरकार दे जलवे सूरज तारे गावन्दे ने,

 

गुरु हरनाम जी श्रद्धाराम जी, ऐसे होये अवतार ऐथे,

ऐसे सतगुरु बापू देवेन सेवा बदले तार ऐथे,

छड़ के मसले ऊच नीच गल अमला दी स्मजाँदै ने,

इंसाना दी गल इक पासे, देवते शीश झुकादे ने,

मेरी ओम सच्ची सरकार दे जलवे सूरज तारे गावन्दे ने,

 

आसा पूर्ण होवे सबदी ऐसी रीत चलाई है,

हर दम दुखिया दे दुःख हरदे, एह एसडी वादियाई है,

ना जाऊ ना गया कोई खाली ऐसे हुकुम लगाएं ने,

इंसाना दी गल इक पासे, देवते शीश झुकादे ने,

मेरी ओम सच्ची सरकार दे जलवे सूरज तारे गावन्दे ने,

Author Info

OmNandaChaur Darbar

The only website of OmDarbar which provide all information of all Om Darbars
%d bloggers like this: