Asaa Rul Jaana Si

Asaa Rul Jaana Si

असा रूल जाना सी।

जे तू ना फरदा साड़ी बांह, असा रूल जाना सी, फिर किद्रे ना मिलदी थाह, असा रूल जाना सी।

असी बिना सहारे गली गली विच रुलदे सी, फिर अखियां विचों पल पल हँजु दुलड़े सी, जे तू ना वंददा खुशिया, असा रूल जाना सी……..

ना नचदी तपड़ी ऐ जिंदगानी होनी सी, मेरे जीवन दी कोई होर कहानी होनी सी, जे मिलदी ना ठंडी छाव्, असा रूल जाना सी…….

जद नज़र सवली उस मुर्शीद दी होइ सी, एह ख़ाक दी ढ़ेरी जा अम्बरा नू छुई सी, जे करदा ना सानू हाँ, असा रूल जाना सी……

मेरे लाख करोड़ जुबान तेरे गुण नहीं गा सकदे, मेरे बापू जी तेरा क़र्ज़ कदे नहीं चुका सकदे, जे देंदा ना चरना विच थाह, असा रूल जाना सी……
फिर किद्रे ना मिलदी …….

Author Info

OmNandaChaur Darbar

The only website of OmDarbar which provide all information of all Om Darbars
%d bloggers like this: